झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास की जीवनी | Know the biography of Chief Minister Raghubar daas: Hindipost News




झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास की जीवनी

Updated on 06 May 2017 by Hindipost


                    

रघुवर दास एक भारतीय राजनेता और  वर्तमान में झारखण्ड के पहले गैर आदिवासी मुख्यमंत्री है। 2014 में झारखंड में हुए विधानसभा चुनावों में जमशेदपुर पूर्वी सीट से विजयी हुए हैं। अपने राजनीतिक सफर के दौरान वे झारखंड के उप मुख्यमंत्री भी रहे। वे 2001 में झारखंड सरकार की ओर से प्रतिनिधित्व करते हुए लंदन, इंग्लैंड और चीन की यात्रा कर चुके हैं। साहित्य में रुचि रखने वाले रघुवर दास रामधारी सिंह दिनकर को पसंद करते हैं।   
 
रघुवर दास का जन्म 3 मई 1955 को जमशेदपुर में हुआ था, उनके पिता का नाम स्व॰ चमन राम है। रघुवर दास ने अपना बचपन बहुत मुश्किलो में गुजारा है ,जिसकी वजह से उन्होने जमशेदपुर की टाटा स्टील रोलिंग मिल में मजदूर के रुप में अपना सफर शुरु किया। उनकी प्रारम्भिक शिक्षा भालूबासा हरिजन विद्यालय में हुई। यहीं से मैट्रिक की परीक्षा पास की। इसके बाद जमशेदपुर को-ऑपरेटिव कॉलेज से बीएससी और विधि स्नातक की परीक्षा पास की। रघुवर दास के परिवार में उनकी पत्नी, एक पुत्र और एक पुत्री हैं, हालांकि उनकी पुत्री की शादी हो चुकी है।
 
1980 में बीजेपी की स्थापना के साथ ही वह सक्रिय राजनीति में आए।उन्होंने वर्ष 1995 में पहली बार जमशेदपुर पूर्व से विधानसभा का चुनाव लड़ा और विधायक बने। तब से लगातार पांचवीं बार उन्होंने इसी क्षेत्र से विधानसभा चुनाव जीता है। तत्कालीन बिहार के जमशेदपुर पूर्व से वर्ष 1995 में उनका टिकट बीजेपी के प्रसिद्ध विचारक गोविंदाचार्य ने तय किया था। दास पंद्रह नवंबर, 2000 से 17 मार्च, 2003 तक राज्य के श्रम मंत्री रहे, फिर मार्च 2003 से 14 जुलाई, 2004 तक वह भवन निर्माण और 12 मार्च 2005 से 14 सितंबर, 2006 तक झारखंड के वित्त, वाणिज्य और नगर विकास मंत्री रहे।

इसके अलावा दास 2009 से 30 मई, 2010 तक झारखंड मुक्ति मोर्चा के साथ बनी बीजेपी की गठबंधन सरकार में उपमुख्यमंत्री, वित्त, वाणिज्य, कर, ऊर्जा, नगर विकास, आवास और संसदीय कार्य मंत्री भी रहे। 16 अगस्त, 2014 को अमित शाह की अध्यक्षता में बनी टीम में वह बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाए गए।  और २०१५ में हुए विधानसभा चुनाव  उन्होंने पूर्ण बहुमत से अपनी  सरकार बनाई। और राज्य के दसवे मुख्यमंत्री पद के लिए शपथ लिया।




झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास की जीवनी

Updated on 06 May 2017 by Hindipost



              

रघुवर दास एक भारतीय राजनेता और  वर्तमान में झारखण्ड के पहले गैर आदिवासी मुख्यमंत्री है। 2014 में झारखंड में हुए विधानसभा चुनावों में जमशेदपुर पूर्वी सीट से विजयी हुए हैं। अपने राजनीतिक सफर के दौरान वे झारखंड के उप मुख्यमंत्री भी रहे। वे 2001 में झारखंड सरकार की ओर से प्रतिनिधित्व करते हुए लंदन, इंग्लैंड और चीन की यात्रा कर चुके हैं। साहित्य में रुचि रखने वाले रघुवर दास रामधारी सिंह दिनकर को पसंद करते हैं।   
 
रघुवर दास का जन्म 3 मई 1955 को जमशेदपुर में हुआ था, उनके पिता का नाम स्व॰ चमन राम है। रघुवर दास ने अपना बचपन बहुत मुश्किलो में गुजारा है ,जिसकी वजह से उन्होने जमशेदपुर की टाटा स्टील रोलिंग मिल में मजदूर के रुप में अपना सफर शुरु किया। उनकी प्रारम्भिक शिक्षा भालूबासा हरिजन विद्यालय में हुई। यहीं से मैट्रिक की परीक्षा पास की। इसके बाद जमशेदपुर को-ऑपरेटिव कॉलेज से बीएससी और विधि स्नातक की परीक्षा पास की। रघुवर दास के परिवार में उनकी पत्नी, एक पुत्र और एक पुत्री हैं, हालांकि उनकी पुत्री की शादी हो चुकी है।
 
1980 में बीजेपी की स्थापना के साथ ही वह सक्रिय राजनीति में आए।उन्होंने वर्ष 1995 में पहली बार जमशेदपुर पूर्व से विधानसभा का चुनाव लड़ा और विधायक बने। तब से लगातार पांचवीं बार उन्होंने इसी क्षेत्र से विधानसभा चुनाव जीता है। तत्कालीन बिहार के जमशेदपुर पूर्व से वर्ष 1995 में उनका टिकट बीजेपी के प्रसिद्ध विचारक गोविंदाचार्य ने तय किया था। दास पंद्रह नवंबर, 2000 से 17 मार्च, 2003 तक राज्य के श्रम मंत्री रहे, फिर मार्च 2003 से 14 जुलाई, 2004 तक वह भवन निर्माण और 12 मार्च 2005 से 14 सितंबर, 2006 तक झारखंड के वित्त, वाणिज्य और नगर विकास मंत्री रहे।

इसके अलावा दास 2009 से 30 मई, 2010 तक झारखंड मुक्ति मोर्चा के साथ बनी बीजेपी की गठबंधन सरकार में उपमुख्यमंत्री, वित्त, वाणिज्य, कर, ऊर्जा, नगर विकास, आवास और संसदीय कार्य मंत्री भी रहे। 16 अगस्त, 2014 को अमित शाह की अध्यक्षता में बनी टीम में वह बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाए गए।  और २०१५ में हुए विधानसभा चुनाव  उन्होंने पूर्ण बहुमत से अपनी  सरकार बनाई। और राज्य के दसवे मुख्यमंत्री पद के लिए शपथ लिया।







यही हाल रहा तो 2019 Election में भी हार होगी': BJP…
Updated on 14 Mar 2018



30 हज़ार से ज़्यादा किसान नासिक से पैदल मुंबई पहुंचे,…
Updated on 11 Mar 2018



PM मोदी के फॉलोवर ट्विटर पर सब से ज़्यादा, जानिए भारत…
Updated on 07 Dec 2017



विराट कोहली से शादी की खबर पर अनुष्का शर्मा ने बताई…
Updated on 07 Dec 2017



राम मंदिर-बाबरी मस्जिद: जानिये छह दिसंबर 1992 को अयोध्या…
Updated on 04 Dec 2017




भारत पाकिस्तान 1965 विश्वयुद्ध के बारे में पूरी जानकारी,…
Updated on 07 May 2017



एक ऐसा त्यौहार जहां कब्रो से शव निकाल कर साजाते है,…
Updated on 01 Jun 2017



गन्ने के जूस के ये हैरान कर देने वाले फायदे
Updated on 09 May 2017



केला खाने के ये महत्वपूर्ण फायदे
Updated on 09 May 2017



किस करने के ७ बेस्ट तरीके, अगर आप कपल हैं तो ज़रूर…
Updated on 13 May 2017


झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास की जीवनी

Updated on 06 May 2017 by Hindipost


              

रघुवर दास एक भारतीय राजनेता और  वर्तमान में झारखण्ड के पहले गैर आदिवासी मुख्यमंत्री है। 2014 में झारखंड में हुए विधानसभा चुनावों में जमशेदपुर पूर्वी सीट से विजयी हुए हैं। अपने राजनीतिक सफर के दौरान वे झारखंड के उप मुख्यमंत्री भी रहे। वे 2001 में झारखंड सरकार की ओर से प्रतिनिधित्व करते हुए लंदन, इंग्लैंड और चीन की यात्रा कर चुके हैं। साहित्य में रुचि रखने वाले रघुवर दास रामधारी सिंह दिनकर को पसंद करते हैं।   
 
रघुवर दास का जन्म 3 मई 1955 को जमशेदपुर में हुआ था, उनके पिता का नाम स्व॰ चमन राम है। रघुवर दास ने अपना बचपन बहुत मुश्किलो में गुजारा है ,जिसकी वजह से उन्होने जमशेदपुर की टाटा स्टील रोलिंग मिल में मजदूर के रुप में अपना सफर शुरु किया। उनकी प्रारम्भिक शिक्षा भालूबासा हरिजन विद्यालय में हुई। यहीं से मैट्रिक की परीक्षा पास की। इसके बाद जमशेदपुर को-ऑपरेटिव कॉलेज से बीएससी और विधि स्नातक की परीक्षा पास की। रघुवर दास के परिवार में उनकी पत्नी, एक पुत्र और एक पुत्री हैं, हालांकि उनकी पुत्री की शादी हो चुकी है।
 
1980 में बीजेपी की स्थापना के साथ ही वह सक्रिय राजनीति में आए।उन्होंने वर्ष 1995 में पहली बार जमशेदपुर पूर्व से विधानसभा का चुनाव लड़ा और विधायक बने। तब से लगातार पांचवीं बार उन्होंने इसी क्षेत्र से विधानसभा चुनाव जीता है। तत्कालीन बिहार के जमशेदपुर पूर्व से वर्ष 1995 में उनका टिकट बीजेपी के प्रसिद्ध विचारक गोविंदाचार्य ने तय किया था। दास पंद्रह नवंबर, 2000 से 17 मार्च, 2003 तक राज्य के श्रम मंत्री रहे, फिर मार्च 2003 से 14 जुलाई, 2004 तक वह भवन निर्माण और 12 मार्च 2005 से 14 सितंबर, 2006 तक झारखंड के वित्त, वाणिज्य और नगर विकास मंत्री रहे।

इसके अलावा दास 2009 से 30 मई, 2010 तक झारखंड मुक्ति मोर्चा के साथ बनी बीजेपी की गठबंधन सरकार में उपमुख्यमंत्री, वित्त, वाणिज्य, कर, ऊर्जा, नगर विकास, आवास और संसदीय कार्य मंत्री भी रहे। 16 अगस्त, 2014 को अमित शाह की अध्यक्षता में बनी टीम में वह बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाए गए।  और २०१५ में हुए विधानसभा चुनाव  उन्होंने पूर्ण बहुमत से अपनी  सरकार बनाई। और राज्य के दसवे मुख्यमंत्री पद के लिए शपथ लिया।