ट्विटर ने दिया अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के एक विवादित ट्वीट का साथ | social media twiter stands with donald trupmh controversial tweet: Hindipost News




ट्विटर ने दिया अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के एक विवादित ट्वीट का साथ

Updated on 02 Dec 2017 by Hindipost


                    

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का एक बार फिर पक्ष लेते हुए ट्विटर ने अपने पिछले स्पष्टीकरण को वापस ले लिया है कि उसने ट्रंप के ट्वीट को क्यों नहीं हटाया, जिसमें ग्राफिक वीडियो भी शामिल हैं। ट्रंप ने इस सप्ताह धुर दक्षिणपंथी ब्रिटिश नेता जेडा फ्रेजर द्वारा ट्वीट किए वीडियो को रिट्वीट किया था, जो मुस्लिमों के हिंसक कृत्यों को दिखाने के मकसद से किया गया था।

इस पर प्रतिक्रिया देते हुए ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने इस तरह की 'घृणित' चीजों को बढ़ावा देने के लिए ट्रंप को 'गलत' कहा था। ट्रंप ने जवाब देते हुए मे से कहा कि उन्हें इसके बजाय आतंकवाद पर ज़्यादा ध्यान देना चाहिए और कहा "हम बस अच्छा कर रहे हैं।"
बाद में ट्विटर के CEO जैक डोर्सी ने ट्वीट किया की, "हम गलती से गलत कारण का उल्लेख करते हैं कि (क्यों) हमने इस हफ्ते की शुरुआत में वीडियो को लेकर कोई कार्रवाई नहीं की। हम अभी भी हमारी सभी मौजूदा नीतियों की समीक्षा कर रहे हैं।"
अब ट्विटर की ट्रस्ट एवं सेफ्टी टीम के ट्वीट में माइक्रो ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म पर कहा गया है कि हमारी वर्तमान मीडिया नीति के आधार पर ट्विटर पर वीडियो को मंजूरी मिली है। सितंबर में ट्विटर ने ट्रंप के उत्तर कोरिया के बारे में उस विवादित ट्वीट को नहीं हटाया था, जो स्पष्ट रूप से उसी के दिशा-निर्देशों का उल्लंघन था।
ट्रंप ने ट्वीट किया था की, "बस अभी संयुक्त राष्ट्र में उत्तर कोरिया के विदेश मंत्री का संबोधन सुना। अगर वह उस छोटे कद वाले रॉकेट मैन के विचारों को दोहराते, तो वे ज्यादा देर तक हमारे आसपास नहीं रहेंगे।"

लोगों ने इस बात पर हैरानी जताई कि ट्विटर ने उस ट्वीट को क्यों नहीं हटाया जिससे कंपनी के नियम का उल्लंघन हुआ है। इस पर ट्विटर के सह-संस्थापक बिज स्टोन ने पोस्ट किया की, "आप में से कुछ लोग पूछ रहे हैं कि हमने यहां उल्लखित ट्वीट को क्यों नहीं हटाया। इसे मापने का हमारा पैमाना यह है कि क्या ट्वीट खबरयोग्य है और क्या वह जनहित में है।"
ट्विटर ने कभी इस बात को सार्वजनिक रूप से नहीं कहा है कि ट्रंप ने उसके किसी भी दिशा निर्देश का उल्लंघन किया है। डोर्सी ने भी ट्रंप के ट्वीट का बचाव किया है। ट्रंप के ट्वीट के आलोचकों का कहना है कि उनके ट्वीट हिंसा को बढ़ावा देते हैं, इसलिए इन पर प्रतिबंध लगा दिया जाना चाहिए। 




ट्विटर ने दिया अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के एक विवादित ट्वीट का साथ

Updated on 02 Dec 2017 by Hindipost



              

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का एक बार फिर पक्ष लेते हुए ट्विटर ने अपने पिछले स्पष्टीकरण को वापस ले लिया है कि उसने ट्रंप के ट्वीट को क्यों नहीं हटाया, जिसमें ग्राफिक वीडियो भी शामिल हैं। ट्रंप ने इस सप्ताह धुर दक्षिणपंथी ब्रिटिश नेता जेडा फ्रेजर द्वारा ट्वीट किए वीडियो को रिट्वीट किया था, जो मुस्लिमों के हिंसक कृत्यों को दिखाने के मकसद से किया गया था।

इस पर प्रतिक्रिया देते हुए ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने इस तरह की 'घृणित' चीजों को बढ़ावा देने के लिए ट्रंप को 'गलत' कहा था। ट्रंप ने जवाब देते हुए मे से कहा कि उन्हें इसके बजाय आतंकवाद पर ज़्यादा ध्यान देना चाहिए और कहा "हम बस अच्छा कर रहे हैं।"
बाद में ट्विटर के CEO जैक डोर्सी ने ट्वीट किया की, "हम गलती से गलत कारण का उल्लेख करते हैं कि (क्यों) हमने इस हफ्ते की शुरुआत में वीडियो को लेकर कोई कार्रवाई नहीं की। हम अभी भी हमारी सभी मौजूदा नीतियों की समीक्षा कर रहे हैं।"
अब ट्विटर की ट्रस्ट एवं सेफ्टी टीम के ट्वीट में माइक्रो ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म पर कहा गया है कि हमारी वर्तमान मीडिया नीति के आधार पर ट्विटर पर वीडियो को मंजूरी मिली है। सितंबर में ट्विटर ने ट्रंप के उत्तर कोरिया के बारे में उस विवादित ट्वीट को नहीं हटाया था, जो स्पष्ट रूप से उसी के दिशा-निर्देशों का उल्लंघन था।
ट्रंप ने ट्वीट किया था की, "बस अभी संयुक्त राष्ट्र में उत्तर कोरिया के विदेश मंत्री का संबोधन सुना। अगर वह उस छोटे कद वाले रॉकेट मैन के विचारों को दोहराते, तो वे ज्यादा देर तक हमारे आसपास नहीं रहेंगे।"

लोगों ने इस बात पर हैरानी जताई कि ट्विटर ने उस ट्वीट को क्यों नहीं हटाया जिससे कंपनी के नियम का उल्लंघन हुआ है। इस पर ट्विटर के सह-संस्थापक बिज स्टोन ने पोस्ट किया की, "आप में से कुछ लोग पूछ रहे हैं कि हमने यहां उल्लखित ट्वीट को क्यों नहीं हटाया। इसे मापने का हमारा पैमाना यह है कि क्या ट्वीट खबरयोग्य है और क्या वह जनहित में है।"
ट्विटर ने कभी इस बात को सार्वजनिक रूप से नहीं कहा है कि ट्रंप ने उसके किसी भी दिशा निर्देश का उल्लंघन किया है। डोर्सी ने भी ट्रंप के ट्वीट का बचाव किया है। ट्रंप के ट्वीट के आलोचकों का कहना है कि उनके ट्वीट हिंसा को बढ़ावा देते हैं, इसलिए इन पर प्रतिबंध लगा दिया जाना चाहिए। 







यही हाल रहा तो 2019 Election में भी हार होगी': BJP…
Updated on 14 Mar 2018



30 हज़ार से ज़्यादा किसान नासिक से पैदल मुंबई पहुंचे,…
Updated on 11 Mar 2018



PM मोदी के फॉलोवर ट्विटर पर सब से ज़्यादा, जानिए भारत…
Updated on 07 Dec 2017



विराट कोहली से शादी की खबर पर अनुष्का शर्मा ने बताई…
Updated on 07 Dec 2017



राम मंदिर-बाबरी मस्जिद: जानिये छह दिसंबर 1992 को अयोध्या…
Updated on 04 Dec 2017




जापान में सिर्फ 20 सेकेंड पहले चली ट्रेन तो कंपनी…
Updated on 19 Nov 2017



विजय माल्या ने यहां उड़ा दिए बैंकों से किंगफिशर के…
Updated on 04 Dec 2017



उत्तर कोरिया ने आपने नागरिकों को दी इंटरनेट चलाने…
Updated on 13 Nov 2017



पर्यटकों की सबसे भीड़-भाड़ वाली जगह फ्रांस और जानिये…
Updated on 14 May 2017



स्पेन से अलग होकर बना नया देश कैटेलोनिया, लेकिन स्पेन…
Updated on 28 Oct 2017


ट्विटर ने दिया अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के एक विवादित ट्वीट का साथ

Updated on 02 Dec 2017 by Hindipost


              

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का एक बार फिर पक्ष लेते हुए ट्विटर ने अपने पिछले स्पष्टीकरण को वापस ले लिया है कि उसने ट्रंप के ट्वीट को क्यों नहीं हटाया, जिसमें ग्राफिक वीडियो भी शामिल हैं। ट्रंप ने इस सप्ताह धुर दक्षिणपंथी ब्रिटिश नेता जेडा फ्रेजर द्वारा ट्वीट किए वीडियो को रिट्वीट किया था, जो मुस्लिमों के हिंसक कृत्यों को दिखाने के मकसद से किया गया था।

इस पर प्रतिक्रिया देते हुए ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने इस तरह की 'घृणित' चीजों को बढ़ावा देने के लिए ट्रंप को 'गलत' कहा था। ट्रंप ने जवाब देते हुए मे से कहा कि उन्हें इसके बजाय आतंकवाद पर ज़्यादा ध्यान देना चाहिए और कहा "हम बस अच्छा कर रहे हैं।"
बाद में ट्विटर के CEO जैक डोर्सी ने ट्वीट किया की, "हम गलती से गलत कारण का उल्लेख करते हैं कि (क्यों) हमने इस हफ्ते की शुरुआत में वीडियो को लेकर कोई कार्रवाई नहीं की। हम अभी भी हमारी सभी मौजूदा नीतियों की समीक्षा कर रहे हैं।"
अब ट्विटर की ट्रस्ट एवं सेफ्टी टीम के ट्वीट में माइक्रो ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म पर कहा गया है कि हमारी वर्तमान मीडिया नीति के आधार पर ट्विटर पर वीडियो को मंजूरी मिली है। सितंबर में ट्विटर ने ट्रंप के उत्तर कोरिया के बारे में उस विवादित ट्वीट को नहीं हटाया था, जो स्पष्ट रूप से उसी के दिशा-निर्देशों का उल्लंघन था।
ट्रंप ने ट्वीट किया था की, "बस अभी संयुक्त राष्ट्र में उत्तर कोरिया के विदेश मंत्री का संबोधन सुना। अगर वह उस छोटे कद वाले रॉकेट मैन के विचारों को दोहराते, तो वे ज्यादा देर तक हमारे आसपास नहीं रहेंगे।"

लोगों ने इस बात पर हैरानी जताई कि ट्विटर ने उस ट्वीट को क्यों नहीं हटाया जिससे कंपनी के नियम का उल्लंघन हुआ है। इस पर ट्विटर के सह-संस्थापक बिज स्टोन ने पोस्ट किया की, "आप में से कुछ लोग पूछ रहे हैं कि हमने यहां उल्लखित ट्वीट को क्यों नहीं हटाया। इसे मापने का हमारा पैमाना यह है कि क्या ट्वीट खबरयोग्य है और क्या वह जनहित में है।"
ट्विटर ने कभी इस बात को सार्वजनिक रूप से नहीं कहा है कि ट्रंप ने उसके किसी भी दिशा निर्देश का उल्लंघन किया है। डोर्सी ने भी ट्रंप के ट्वीट का बचाव किया है। ट्रंप के ट्वीट के आलोचकों का कहना है कि उनके ट्वीट हिंसा को बढ़ावा देते हैं, इसलिए इन पर प्रतिबंध लगा दिया जाना चाहिए।